Breaking News
Home / बिग स्टोरी / ढाई दशक से आतंकवाद से जूझ रहे कश्मीर के साथ कोई समझौता नहीं-राजनाथ सिंह

ढाई दशक से आतंकवाद से जूझ रहे कश्मीर के साथ कोई समझौता नहीं-राजनाथ सिंह

होम मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने रोहिंग्या मुसलमानों को जम्मू-कश्मीर की सिक्युरिटी के लिए खतरा बताया है। जम्मू-कश्मीर दौरे पर पहुंचे राजनाथ ने रोहिंग्या को रोहिंग्या मुसलमानों को उन्होंने कहा कि हम ढाई दशक से आतंकवाद से जूझ रहे कश्मीर के साथ कोई समझौता नहीं कर सकते हैं। बता दें कि करीब 40 हजार रोहिंग्या मुसलमान अवैध तरीके से भारत में शरण लिए हुए हैं। बता दें कि इन्हें बाहर करने के प्रपोजल के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन दायर की गई है और इसे संविधान के दिए अधिकारों का वॉयलेशन बताया गया है|

New Delhi: Union Home Minister Rajnath Singh after a Cabinet meeting at South Block in New Delhi on Thursday. PTI Photo by Subhav Shukla(PTI10_27_2016_000056B)

जम्मू-कश्मीर से रिफ्यूजियों को बाहर करने के सवाल पर उन्होंने कहा, ”हम राज्य सरकार के साथ इस मुद्दे पर चर्चा कर रहे हैं। अवैध तरीके से रहने वाले विदेशियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। रोहिंग्या मुस्लिम जम्मू-कश्मीर के लिए खतरा हो सकते हैं, जो करीब 25 साल से आतंकवाद से लड़ रहा है। हम इससे समझौता नहीं कर सकते हैं। अवैध तरीके से देश में रहने वालों के लिए सरकार की नीति साफ है।

रोहिंग्या पर यूएन के ह्यूमन राइट हाईकमिश्नर ने फटकार लगाई। इसके एक दिन बाद भारत ने जवाब दिया। यूएन में भारत के पर्मानेंट रिप्रेजेंटेटिव सैयद अकबरुद्दी ने कहा, “हमें इस बात का दुख है कि यूनाइटेड नेशंस की बॉडी (ह्यूमन राइट हाई कमिश्नर) में आतंकवाद की असल समस्या को नजरंदाज कर दिया गया।

बार्डर सील करने के सवाल पर राजनाथ ने कहा कि पीओके समेत देश की सभी सीमाओं पर जहां नदी या तराई वाले इलाके हैं। वहां पर फेन्सिंग करना मुमकिन नहीं है। ऐसे इलाकों में सिक्युरिटी के लिए सेंसर वाले कैमरों से निगरानी हो सकती है।

About admin@live

Check Also

तीन तलाक पर दारूल उलूम मुखर

सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को असंवैधानिक करार दिए जाने के बाद दारूल उलूम देवबंद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *